PeepingMoon 2020: 'आर्या' की सुष्मिता सेन से लेकर 'मसाबा मसाबा' की मसाबा गुप्ता तक, वेब शोज में इन एक्ट्रेसेस ने कायम किया अपना दबदबा

By  
on  

कोरोना के चलके साल 2020 में ओटीटी पर बैक टू बैक धड़ल्ले से कई वेब सीरीज रिलीज हुई. ये पूरा साल सीरीज का कहा जाए तो गलत नहीं होगा. इस साल एक से बढ़कर एक सीरीज आई और एक से बढ़कर एक एक्ट्रेसेस को अपना हुनर दिखाने का मौका मिला. अपने इस स्पेशल सेगमेंट में हम आपको बताएंगा उन टॉप एक्ट्रेसेस के बारे में जिन्होने अपने दम पर पूरी सीरीज को सम्भाला साथ ही अपने एक्टिंग और अपने किरदार से दर्शकों की बीच अपनी अलग पहचान बनाई. इस साल कई महिला प्रधान सीरीज देखने को मिली. आर्या की शेरनी बनीं सुष्मिता सेन हो या 'पुष्पावली' की सुमुखी सुरेश से लेकर मसाबा गुप्ता की लाइफ पर बनीं  मसाबा की मसाबा गुप्ता हो, इन अभिनेत्रियों ने अपने कंधों पर सीरीज का भार उठाया और अपने आपको बेस्ट की लिस्ट में शामिल किया. आइये नजर डालते है साल 2020 के वेब सीरीज की बेस्ट एक्ट्रेसेस की लिस्ट पर. 

Recommended Read: PeepingMoon 2020: नीना गुप्ता से लेकर स्वास्तिका मुखर्जी तक, इन सपोर्टिंग एक्ट्रेस ने वेब शोज में अपने हुनर से लगाए चार चांद

सुमुखी सुरेश: पुष्पावली 2
2017 में 'पुष्पावली' के पहले सीजन के बाद साल 2020 में सीरीज का दूसरा सीजन रिलीज किया गया, जो कि काफी मजेदार था.  'पुष्पावली' सीरीज कॉमेडियन सुमुखि सुरेश ने बनाया है. ये शो एक लड़की के बारे मैं है, जो एक लड़के के प्यार में दीवानी है और उसके पीछे-पीछे एक शहर से दूसरे शहर भागती रहती है, और लड़के को इस प्यार का जरा भी अंदाजा नहीं है. लीड रोल खुद सुमुखि ने प्ले किया है. उनकी कॉमिक टाइमिंग भी काफी अच्छी है. सीरीज में सुमुखी ने अपने किरदार को जीवंत बना दिया. सुमुखी ने चालाकी के साथ अपनी समस्यात्मक लीड के रूप में मनोरंजक कॉमेडी को अंजाम दिया और इसके अलावा ये किरदार इससे बेहतर कोइ नहीं निभा सकता था. 

मानवी गागरू, सयानी गुप्ता, बानी जे और कीर्ति कुल्हारी : फोर मोर शॉट्स प्लीज 2 
'फोर मोर शॉट्स प्लीज 2!' की कहानी चार  जिंदादिल और बिंदास लड़कियो की जिंदगी यानी मानवी गागरू, सयानी गुप्ता, बानी जे और कीर्ति कुल्हारी उर्फ सिद्धि, दामिनी, उमंग और अंजना के इर्ध गिर्ध धुमती है. पहले सीजन में सबकी प्रोफेशनल, लव और सेक्स लाइफ पहले तीतर-बितर थी, पर इस सीजन में सब mature हो गई हैं ,अपनी ताकत और कमजोरी को जानती हैं और बहुत हद तक सब असली लगा. सारे किरदार पहले से बेहतर लगे, जिस कॉन्फिडेंस और सब्र के साथ सभी किरदारों को परस्थितियों को हैंडल करते दिखाया है, कई लोग इससे काफी कुछ सीख सकते हैं.  चारों की आपसी केमिस्ट्री भी बढ़िया रही है. पिछली बार की तरह कीर्ति कुल्हारी (अंजना) अदाकारी में सब पर भारी है. बानी (उमंग) हाई एनर्जी वाले सीन्स बिना बोले भी अच्छे से कर जाती हैं पर जब पंजाबी बोलती तब एक अलग ही वाइब में होती हैं. मानवी गंगरू (सिद्धि) स्टैंड-अप कॉमेडी में उनके पार्टनर प्रबल पंजाबी (अमित) के साथ ट्यूनिंग बढ़िया जमाती है. वही सयानी गुप्ता (दामिनी) एक सीरियस राइटर के रोल में परफेक्ट लगी थी. 

सुष्मिता सेन : आर्या
डिज्नी हॉटस्टार पर रिलीज हुई 'आर्या' की सबसे बड़ी बात खुद सुष्मिता सेन थी. लंबे समय बाद पर्दे पर लौटीं सुष्मिता सेन, अपने स्टाइल और शानदार डायलॉग डिलिवरी से दर्शकों पर जादू चलाने में कामयाब रही. 'नीरजा' जैसी अवॉर्ड विनिंग फिल्म बनाने वाले निर्देशक राम माधवानी ने संदीप मोदी और विनोद रावत के साथ मिलकर 'आर्या' को डायरेक्ट किया था.  राजस्थान के परिवार की कहानी दिखाती ये 9 ऐपिसोड वाली सीरीज आपको रोमांच और थ्रिल से भरी हुई थी. कहानी भी एक लेडी डॉन के आसपास बुनी गई है. आर्या सरीन का परिवार गैर कानूनी अफीम और दवाईओं के बिजनेस में लिप्त होता है. इसी सीरीज़ की सबसे ख़ास बात है सुष्मिता सेन की एक्टिंग. उनको वापस स्क्रीन पर देखना काफी शानदार लगता है. हालांकि, इसके पीछे उनकी एक्टिंग का भी कमाल है. वह अपने किरदार में काफी जचतीं हैं. उनकी फिटनेस और उनकी आदयगी देखने लायक है.

स्वरा भास्कर: फ्लैश 
मानव तस्करी और वेश्यावृत्ति के धंधे की अंधेरी दुनिया दिखाने वाली वेबसीरीज फ्लैश समाज के आपराधिक तत्वों के खिलाफ एसीपी राधा नौटियाल यानी स्वरा भास्कर की लड़ाई है. सीरीज की कहानी का विस्तार मुंबई से कोलकाता तक है. इन दो महानगरों के बीच मानव तस्करों का धंधा चलता है और कई मासूम जिंदगियां फफक-फफक कर बर्बाद होती हैं. फ्लैश में जैसे-जैसे मानव तस्करों की दुनिया के दरवाजे खुलते हैं, हैरान करते हैं. दहलाते हैं. उनके प्रति नफरत जगाते हैं. लगता है कि नर्क कहीं है तो इन्हीं लोगों ने उसे बसाया है. इनसे क्रूर लोग शायद ही कहीं और मिलेंगे. लेकिन अच्छी बात यह है कि कहीं न कहीं इस अंधेरे के खिलाफ लड़ने के लिए कुछ लोगों ने मुट्ठियां कस रखी हैं. राधा समाज और अपने डिपार्टमेंट में मिसफिट किरदार है. उसे यह बात परेशान करती है कि जब समाज में तमाम चीजें जानते-बूझते अपनी जगह सही-सलामत नहीं हैं तो फिर लोगों को दिखावे के लिए सब कुछ परफेक्ट क्यों चाहिए. अगर पुलिस गोली चला दे तो वजह चाहिए और सेक्स हो जाए तो प्यार चाहिए. स्वरा ने अपने रोल को शिद्दत से निभाया है और यह भूमिका सोशल मीडिया पर बन चुकी उनकी उस छवि के अनुकूल है, जिसमें वह तमाम असामाजिक बातों के विरुद्ध खड़ी, बहुतों को नाराज करती रहती हैं. 

नीना गुप्ता और मसाबा गुप्ता : मसाबा मसाबा 
बिना बोर किए फिक्शन और रियल का फर्क मिटाती है सीरीज, नीना गुप्ता और मसाबा गुप्ता जीत लेंगे आपका दिल
टीनेजर मसाबा गुप्ता को उनकी माँ नीना गुप्ता ने एक्टिंग को बतौर करियर चुनने से मना कर दिया था. पर अब 31 साल की, मसाबा, जो एक फेमस डिजाइनर नेटफ्लिक्स के मसाबा मसाबा में अपनी मां नीना गुप्ता के साथ स्क्रीन स्पेस करती नजर आई. सोनम नायर के डायरेक्शन में बनी और अश्विनी यार्डी के क्रिएशन वाली इस पेशकश में मसाबा और नीना दोनों ही अपनी जिंदगी का फिक्शनल वर्जन निभाती दिखती हैं. वैसे तो कहानी का बैकड्रॉप फिक्शनल है लेकिन इसके बावजूद मसाबा और नीना अपनी निजी जिंदगी के कई पहलु को भी बिना भाषण पेश किया. हॉट और बेपरवाह मसाबा की जिंदगी की सिर्फ अच्छी बातों पर फोकस न करते हुए इस सीरीज में मसाबा की लाइफ के हर पहलुओं पर रोशनी डाली गई. डॉक्यूमेंट्री और रियल लाइफ स्टोरीज एलिमेंट के साथ 'मसाबा मसाबा' में मेलोड्रामा भी है, मजेदार मोड़ भी हैं. 
एक्टर बनने का ख्वाब देखने वाली मसाबा ने इस सीरीज में अपने डेब्यू से साबित कर दिया है कि वो कितनी नैचुरल एक्टर हैं. आसान काम नही होता अपने बचपन के रियल इमोशन्स को बड़े होने पर पेश कर पाना. लेकिन मसाबा ने ये काम शानदार ढंग से किया. उनकी केमिस्ट्री मां नीना के साथ सीरीज की सबसे बड़ी यूएसपी है.


नीना गुप्ता की तो नजर उतार लेनी चाहिए. इस किरदार में क्या कमाल किया है उन्होने. उम्र छुपाने वाले फेसपैक लगाने के सीन से लेकर सब्जीवाले से मोल भाव सारे सीन इतने नैचुरल हैं कि आपको अपने घरों की याद आएगी. अपने तरीके का ह्यूमर इस किरदार को देने वाली नीना जी इस शो का दिल हैं तो मसाबा है कहानी की आवाज.

श्रेया धनवंतरी: स्कैम 1992: द हर्षद मेहता स्टोरी
हर्षद मेहता की 'रिस्क से इश्क' करने वाले कहानी को ऑडियंस ने बहुत प्यार दिया है. 'स्कैम 1992: द हर्षद मेहता स्टोरी' सोनी लिव पर रिलीज हुई थी. इसकी कहानी से लेकर थीम सॉन्ग को खूब पसंद किया गया. ये वेब सीरीज देबाशीष बसु और सुचेता दलाल की किताब 'द स्कैम' पर आधारित है, जो हर्षद मेहता के शेयर बाजार घोटाले पर लिखी गई हैं. सीरीज में श्रेया धनवंतरी की एक्टिंग काबिलेतारीफ है. श्रेया मे सीरीज में मशहूर बिजनेस जर्नलिस्ट सुचेता दलाल का किरदार निभाया था. यह कहानी भले ही मुंबइया गुजराती हर्षद मेहता की है मगर एक समय के बाद पत्रकार सुचेता दलाल लगभग केंद्र में आ जाती हैं क्योंकि वही स्कैम को सामने लाती हैं. खोजी पत्रकार सुचेता का हर्षद की चालाकियों को समझना और उसका भंडाफोड़ करना, इसके बाद दफ्तर में ही अपनी खबर को अखबार के पन्ने में सही जगह दिलाने का उनका संघर्ष रोमांच पैदा करता है. श्रेया धनवंतरि ने बड़ी शिद्दत से यह भूमिका निभाई है.

ईशा तलवार, श्वेता त्रिपाठी और रसिका दुग्गल : मिर्जापुर 2
'मिर्जापुर 2' उन सीरीज में से थी, जिसका इंतजार ऑडियंस को दो सालों से था. दूसरे सीजन में एक्शन वहीं से शुरू होता है, जहां से पिछले सीजन खत्म हुआ था. कालीन भैया का टशन, मुन्ना भैया की मिर्जापुर की गद्दी पर बैठने की चाहत, बदले की आग में झुलसते गुड्डू और गोलू का एक्शन लोगों को काफी पसंद आया. पर अगर दूसरे सीजन का भौकाल किसी ने बरकार रखा तो वो महिला कैरेक्टर्स हैं, जिन्होंने कुछ चौंकाने वाले ट्विस्ट और टर्न्स इस सीजन को दिये. 
गोलू ने किताबों की जगह बंदूकों ने ली है. अपने साथ बुरा करने वालो के खिलाफ खड़ी होती है. त्रिपाठियों से बदला लेने के लिए गोलू, गुड्डू के साथ खड़ी रहती है. गोलू के ट्रैक के जरिए दद्दा त्यागी (लिलीपुट) और उनके जुड़वां बेटों (विजय वर्मा) के किरदारों को आगे बढ़ने की वजह मिलती है.श्वेता अपने किरदार में दमदार लगी है. 
अखंडानंद त्रिपाठी यानी कालीन भैया (पंकज त्रिपाठी) की पत्नी बीना त्रिपाठी यानी रसिका दुग्गल का किरदार दूसरे सीजन में उभरकर आया है. घर में पूर्व बाहुबली ससुर सत्यानंद त्रिपाठी (कुलभूषण खरबंदा) के शोषण के खिलाफ बीना का मौन विद्रोह मिर्जापुर 2 में होने वाली प्रमुख घटनाओं का टर्निंग प्वाइंट कहा जा सकता है, क्योंकि इसके बिना गुड्डू पंडित का बदला भी पूरा नहीं होता. रसिका ने अपनी परफोर्मेंस से फिर दिल जीत लिया. 
वहीं, नई एंट्री ईशा तलवार ने इस सीजन की कहानी को और थ्रिलिंग बना दिया. ईशा ने माधुरी यादव का किरदार निभाया, जो सीएम की बेटी और चुनाव प्रचार के दौरान मुन्ना त्रिपाठी (दिव्येंदु) से प्यार हो जाता है और दोनों शादी कर लेते हैं. बाद में माधुरी सीएम बन जाती हैं. इस किरदार ने कालीन भैया की राजनीतिक महत्वाकांक्षाओं को तोड़कर रख दिया था. यही किरदार मुन्ना त्रिपाठी को पिता के खिलाफ बगावत के रास्ते पर ले जाने के लिए प्रेरित करता है. ईशा कितनी अच्छी एक्ट्रेस है ये उन्होने कई बार साबित किया. 

तब्बू:  ए सूटेबल बॉय
नेटफ्लिक्स की फिल्म और निर्देशक मीरा नायर की वेबसीरीज में ईशान खट्टर और तब्बू की केमिस्ट्री सभी का ध्यान आकर्षित किया. इसमें ईशान 'मान कपूर' का किरदार निभाया. जिसका अफेयर सईदा बाई से हो जाता है. सईदा बाई का किरदार तब्बू ने निभाया. सईदा शहर की मशहूर गायिका हैं और महफिलों में गाती रहती हैं. फिल्म में ईशान खट्टर और तबू के बीच  किसिंग सीन भी फिल्माए गाया था. अपनी सुंदरता और ग्रेसफुल एक्टिंग के लिए जाने जाने वाली तब्बू ने सीरीज में अपनी बेहतरीन अदाकारी से जादू बिखेरा. 

करिश्मा कपूर: मेंटलहुड 
करिश्मा कपूर ने ऑल्ट बालाजी की वेब सीरीज़ मेंटलहुड से ओटीटी पर डेब्यू और एक्टिंग में वापसी की थी. यह एक फैमिली ड्रामा सीरीज़ थी.  सीरीज़ में करिश्मा कपूर को कानपुर से आई एक महिला दिखाया गया था.  जिसे केवल इस बात के लिए जज किया जा रहा है कि वो कानपुर से आई थी. हालांकि वो भी बिल्कुल उन्हीं औरतों की तरह है जो मुंबई में रहती है. इस सीरीज़ को करिश्मा कपूर की कमबैक सीरीज थी. उन्होने साबित किया की अभिनय और अदाकारी उनके खून में है. इतने समय बाद उन्हें स्क्रीन पर देखना काफी रिफ्रेशिंग था.

Recommended

Loading...
Share