फिल्म ‘द व्हाइट टाइगर’ के निर्माता मुकुल देवड़ा पर ‘अवैध लेन-देन’ का आरोप, ईडी से जांच की मांग, प्रोड्यूसर ने जारी की स्टेटमेंट

By  
on  

प्रियंका चोपड़ा और राजकुमार राव स्टारर 'द व्हाइट टाइगर' 21 जनवरी को ओटीटी पर रिलीज हो गई है. वहीं हाल ही में फिल्म ‘द व्हाइट टाइगर’ के निर्माता मुकुल देवड़ा पर ‘अवैध लेन-देन’ का आरोप लगे है. अमेरिकी फिल्ममेकर जॉन हार्ट और निर्माता सोनिया मुद्भटकल ने दिल्ली हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की थी. उन्होंने कहा था कि अरविंद अडिगा के उपन्यास पर फिल्म मेकिंग का कॉपीराइट मार्च 2009 में ही खरीद लिया था इसके बावजूद निर्माता मुकुल देवड़ा ने फिल्म का निर्माण किया. अब दोनों मेकर्स जॉन हार्ट और सोनिया मुद्भटकल प्रवर्तन निदेशालय के पास पहुंचे हैं.

मेकर्स का आरोप है कि देवड़ा ने इस फिल्म के लिए ‘संदिग्ध लेन-देन’ किया है. उन्होंने स्विस बैंक बीएसआई से एक चेक का इस्तेमाल अपने इस प्रोजेक्ट के लिए किया है. जॉन हार्ट और सोनिया मुद्भटकल ने ईडी को भेजे अपने ईमेल में 'लेन-देन' की जांच के लिए एक औपचारिक अनुरोध दर्ज किया है. वहीं पूरे मामले पर मुकुल देवड़ा ने अपना पक्ष रखा। उन्होंने कहा कि 'मैंने कुछ भी गलत नहीं किया है. मुझे भारत की न्यायिक प्रणाली पर पूरा भरोसा है. 21 जनवरी को दिल्ली हाईकोर्ट ने याचिकाकर्ताओं की मांग को खारिज कर दिया था और द व्हाइट टाइगर पर रोक लगाने से इनकार कर दिया था. मैं समझता हूं कि कोर्ट ने यह देखा कि यह संभव नहीं था.'

The White Tiger Review: प्रियंका चोपड़ा जोनस, राजकुमार राव और आदर्श गौरव की ये फिल्म करती है भारत की क्लास बेस्ड सोसाइटी पर करारा प्रहार

बता दें कि जॉन हॉर्ट ने हॉलीवुड फिल्म रिवॉल्यूशनरी रोड और ब्वॉयज डोंट क्राई को प्रोड्यूस किया है. उन्होंने चार मार्च 2009 को अरविंद अडिगा से कॉपीराइट अधिकार खरीदे थे. जुलाई 2010 में मुद्भटकल ने इस फिल्म को प्रोड्यूस करने के लिए उन्हें ज्वॉइन किया। अक्तूबर 2010 में मुकुल भट्ट उनके साथ इस प्रोजेक्ट से जुड़े थे. 

Recommended

Loading...
Share