'आश्रम' सीरीज में हिंदू संतों के विवादित चित्रण के लिए जोधपुर कोर्ट ने बॉबी देओल और प्रकाश झा को भेजा नोटिस

By  
on  

बॉबी देओल की आश्रम की वेब सीरीज़ एक बार फिर मुश्किलों में आ गई है. खबरों के मुताबिक, राजस्थान के जोधपुर में जिला और सत्र अदालत ने एक्टर और डायरेक्टर प्रकाश झा को हाल ही में एमएक्स प्लेयर पर जारी सीरीज में संतों के विवादास्पद चित्रण के साथ हिंदुओं की भावनाओं को आहत करने के लिए कानूनी नोटिस भेजा है.

याचिका खुश खण्डेलवाल नाम के एक स्थानीय निवासी द्वारा दायर की गई थी जिसने दावा किया था कि काशीपुर के बॉबी के किरदार बाबा निराला ने हिंदू संतों की छवि को धूमिल किया है. खूश ने अपनी याचिका में उल्लेख किया है कि हिंदू संत के रूप में देओल के चित्रण से हिंदुओं की धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंची है, जो संतों का सम्मान करते हैं और उनकी पूजा करते हैं. बलात्कारी, भ्रष्ट और ड्रग डीलर के रूप में उनके चित्रण ने हिंदुओं के लिए संतों की पकड़ को कम कर दिया है.

(यह भी पढ़ें: धर्मेंद्र ने बेटों बॉबी देओल और सनी देओल के साथ की 'अपने' के सीक्वल की घोषणा)

एक जाने माने अखबार की रिपोर्ट के अनुसार, ख़ुश ने पहले पुलिस में शिकायत की थी और बॉबी और प्रकाश के खिलाफ एक FIR दर्ज कराइ थी. हालांकि, पुलिस ने मामले को दर्ज करने से इनकार कर दिया और फिर उसने अतिरिक्त मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट की अदालत को उसी याचिका के साथ शिफ्ट कर दिया. जहां, एसीजेएमएम ने उनकी याचिका खारिज कर दी. ख़ुश ने तब जोधपुर में जिला और सत्र न्यायालय का दरवाजा खटखटाया. कथित तौर पर, जोधपुर जिला और सत्र न्यायाधीश रवींद्र जोशी ने 11 जनवरी, 2021 को सुनवाई के लिए मामले को सूचीबद्ध किया है.

इससे पहले, करणी सेना के प्रदेश संगठन महामंत्री सुरजीत सिंह ने प्रकाश को 'हिंदू रीति-रिवाजों में आश्रम की छवि को ख़राब करने वाले' और 'हिंदू धर्म को ख़राब करने की कोशिश' के लिए कानूनी नोटिस भेजा था.

(Source: The Indian Express)

Recommended

Loading...
Share