रजनीकांत ने राजनीति में एंट्री पर हुए लीक लेटर का बताया सच, कहा- 'ये खत मेरा नहीं है, पर हां, मेरे हेल्थ से जुड़ी जानकारी सही है'

By  
on  

सुपरस्टार रजनीकांत ने आज चुनावी राजनीति में शामिल होने पर दोबारा सोचने के संकेत दिए थे पर वहीं इसी बीच अब उनके राजनीति में कदम रखने को लेकर बड़ी खबर सामने आई है. दरअसल सोशल मीडिया पर रजनीकांत का एक लेटर वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि बीमारी के कारण उन्होंने राजनीति से दूरी बनाने का फैसला किया है. रजनीकांत ने वायरल हो रहे लेटर पर कहा है कि इसमें उनके स्वास्थ्य को लेकर कुछ जानकारियां सही है, बाकी सभी अफवाह हैं. उनका कहना है कि वह अपने पदाधिकारियों के साथ चर्चा करेंगे और अपने राजनीतिक रुख के बारे में लोगों को जल्द ही सूचित करेंगे.

लेटर वायरल होने के बाद रजनीकांत ने ट्वीट कर सफाई दी और कहा, 'मेरा एक बयान सोशल मीडिया पर चल रहा है और मीडिया में भी दिखाई दे रहा है. सभी जानते हैं कि यह मेरा बयान नहीं है. हालांकि, उस बयान में मेरी स्वास्थ्य स्थिति और मुझे दी गई चिकित्सीय सलाह के बारे में कुछ विवरण सही है. मैं सही समय पर रजनी मक्कल मन्द्रम के पदाधिकारियों के साथ चर्चा करूंगा और लोगों को अपने राजनीतिक रुख के बारे में सूचित करूंगा.'

Recommended Read: रजनीकांत स्टारर 'Annaatthe' में विलेन का किरदार निभाएंगे जैकी श्रॉफ ?

गौरतलब है कि राजनीति में आने के फैसले को लेकर रजनीकांत के पुनर्विचार को लेकर चर्चाओं उस समय शुरू हुई थीं जब बुधवार को एक लेटर ऑनलाइन लोगों के सामने आया, इसमें कोरोना वायरस महामारी का जिक्र करते हुए दक्षिण भारतीय फिल्‍मों के सुपरस्‍टार के राजनीति में आने के फैसले को ड्राप करने की बात थी. बताया जा रहा है कि वायरल हो रहा लेटर है वह गलती से लीक हो गया है, जो रजनीकांत ने अपने करीबी सलाहकारों और शुभचिंतकों को भेजी थी. लेटर में दावा किया जा रहा है कि कोरोना वैक्सीन आने के बाद भी रजनीकांत की बाहरी गतिविधियों पर पाबंदी रह सकती है, क्योंकि वह कॉन्वालैसिंग किडनी ट्रांसप्लांट के मरीज हैं. लेटर में बताया गया है कि उनकी कमजोर इम्युनिटी के कारण रजनीकांत की बाहरी गतिविधियों पर रोक लगाई जा सकती है और डॉक्टर्स ने भी उन्हें ज्यादा से ज्यादा सावधानियां रखने के लिए कहा है.
(Source :Twitter)

Recommended

Loading...
Share