प्रियंका चोपड़ा जोनस ने बताया, 'अमेरिकी हाई स्कूल में नस्लवादी बदमाशी ने मेरे आत्मविश्वास को प्रभावित किया'

By  
on  

प्रियंका ने किया खुलासा कि किस तरह अमेरिकी हाई स्कूल में रंगभेद का शिकार होने पर प्रियंका चोपड़ा जोनस हॉलीवुड और बॉलीवुड दोनों इंडस्ट्री में अपनी सक्सेज एन्जॉय कर रही हैं. निक जोनस से शादी के बाद वह पूरी तरह यूएस में सेटल हो गयी है. 38 साल की प्रियंका ने कुछ समय तक विदेश में पढ़ाई की. न्यूटोन में उन्होंने है स्कूल की पढ़ाई की. एक मैगज़ीन से बातचीत में प्रियंका ने बताया कि उनके लिए उस नस्लवाद को सुनना और याद करना मुश्किल है, जिसका उन्होंने सामना किया था. 

प्रियंका ने कहा, हाई स्कूल में जो बच्चे मेरे पीछे पड़े थे, उन्हें समझ ही नहीं आता था. ऐसा लगता था कि जैसे उन्होंने तय कर लिया था कि वह किसी और बच्चे से ज्यादा पावरफुल हैं. जब आप किसी को पकड़ते हैं तो आप खुद को इनसिक्योर महसूस करते हैं. बच्चों और युवाओं को बुली किया जाता है. यह होता है ताकत मिलने पर, और हम सभी ने ये सब होते कई अलग-अलग तरह से देखा है. मुझे इसने बहुत चोट पहुंचाई है. मेरे कॉन्फिडेंस को चोट पहुंचाई है. उस चीज को चोट पहुंचाई है जो मैं करना चाहती थी. मुझे लगा था कि मैं एक्सपोज हो रही हूं, क्योंकि मेरी स्किन रॉ (कच्ची) है.  

प्रियंका ने आगे कहा, 'साउथ एशिया में स्किन लाइटनिंग को एंडोर्स करना आम बात है. इंडस्ट्री इतनी बड़ी है कि हर कोई कर रहा है. बल्कि, आज भी इसे ठीक माना जाता है, जब एक महिला एक्टर इसे करती है, लेकिन यह गलत बात है. मेरे लिए भी यह करना गलत था. एक छोटी बच्ची जो चेहरे पर टैल्कम पाउडर लगाती थी, क्योंकि मैं विश्वास करती थी कि डार्क स्किन होना अच्छी बात नहीं है.  

काम की बात करें तो हाल ही में राजकुमार राव और आदर्श गौरव को- स्टारर प्रियंका की 'द व्हाइट टाइगर' रिलीज हुयी है. फिलहाल वो सीरीज के सक्सेज को एन्जॉय कर रही हैं. 

(Source: Marie Claire)

Recommended

Loading...
Share