प्रकाश झा ने 'आश्रम' पर हुए विवाद पर तोड़ी चुप्पी, कहा- 'जब कुछ जनता को प्रभावित करता है, तो प्रतिक्रिया की उम्मीद की जाती है'

By  
on  

बॉबी देओल की आश्रम वेब सीरीज़ एक बार फिर मुश्किल में आ गई जब जोधपुर की एक जिला और सत्र अदालत ने उन्हें और निर्देशक प्रकाश झा को कानूनी नोटिस भेजा. खुश खंडेलवाल नाम के एक स्थानीय निवासी द्वारा याचिका दायर की गई थी जिसमें दावा किया गया था कि इस शो ने हिंदू संतों की छवि को धूमिल किया है. अतीत में, आश्रम पर 'हिंदूपहोबिक' होने का आरोप लगाया गया है. नए विवाद पर प्रतिक्रिया करते हुए, प्रकाश ने एक जाने माने अखबार को बताया कि लोगों द्वारा  आपत्तियां उठाना 'नार्मल' है.

निर्देशक ने बताया कि जब कोई शो जनता को प्रभावित करता है, तो एक ध्रुवीकृत प्रतिक्रिया की उम्मीद की जाती है. प्रकाश ने बताया की "निश्चित रूप से, वे नाराज होंगे. जब आप कुछ बनाते हैं जो जनता को प्रभावित करता है, तो एक ध्रुवीकृत प्रतिक्रिया की उम्मीद की जानी है."

(यह भी पढ़ें: 'आश्रम' सीरीज में हिंदू संतों के विवादित चित्रण के लिए जोधपुर कोर्ट ने बॉबी देओल और प्रकाश झा को भेजा नोटिस)

इस दावे के बारे में बात करते हुए कि आश्रम हिंदूपहोबिक है, प्रकाश ने कहा कि सीरीज ने कभी भी किसी भी धर्म का उल्लेख नहीं किया है और डिस्क्लेमर वही कहता  है. उन्होंने कहा कि उन्होंने बाबा निराला नाम का एक काल्पनिक चरित्र बनाया और अब, लोग सोच रहे हैं कि वह असली है.

विवाद के बावजूद प्रकाश आश्रम के दूसरे सीज़न के लिए पूरी तरह तैयार हैं. PeepingMoon, ने एक्सक्लूसिव तौर से 11 नवंबर को, अपने रीडर्स को बताया है कि इसकी शूटिंग मार्च 2021 से शुरू होगी.

(Source: Mumbai Mirror)

Recommended

Loading...
Share