पंकज त्रिपाठी की 'मिर्जापुर' के मेकर्स के खिलाफ FIR दर्ज होने के बाद जांच के लिए यूपी पुलिस पहुंची मुंबई

By  
on  

मिर्जापुर निवासी की याचिका पर उत्तर प्रदेश में मूल जगह की छवि खराब करने के लिए वेब सीरीज मिर्जापुर और अमेज़न प्राइम के खिलाफ शिकायत दर्ज की गयी है. याचिका में कहा गया है, "मिर्जापुर में समृद्ध सांस्कृतिक मूल्य हैं, लेकिन 2018 में एक्सेल एंटरटेनमेंट ने 9 एपिसोड के मिर्ज़ापुर नाम से एक वेब सीरीज शुरू की, जिसमें उन्होंने मिर्जापुर को गुंडों और मिलावटियों का शहर दिखाया है."

ऐसे में अब, उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर से पुलिस अधिकारियों की एक टीम मुंबई क्राइम ब्रांच पहुंची है. मिर्जापुर डिस्ट्रिक्ट में मिर्जापुर के मेकर्स पर किये गए FIR की जांच के लिए यूपी के पुलिस अधिकारी मुंबई में हैं. यूपी पुलिस के तीन टीम अधिकारी मिर्जापुर के मेकर्स और अमेजन प्राइम वीडियो के अधिकारियों से पूछताछ करेंगे. यूपी पुलिस अधिकारियों की टीम ने मुंबई अपराध शाखा के डीसीपी कार्यालय पहुंचने के बाद आवश्यक अनुमति और स्थानीय सहायता मांगी है. 

(यह भी पढ़ें: मुश्किल में पड़े 'मिर्जापुर' के मेकर्स, शहर को बदनाम करने के आरोप में प्रोड्यूसर के खिलाफ FIR हुयी दर्ज)

ऐसे में एक न्यूज़ वेब साइट से बात करते हुए, एसएचओ बीएच चौरसिया ने कहा, "शिकायत के आधार पर हमने वेब सीरीज मिर्जापुर के खिलाफ एक FIR दर्ज की थी. FIR  तीन लोगों- रितेश सिधवानी, फरहान अख्तर और एक अमेजन प्राइम के अधिकारी के खिलाफ दर्ज की गई थी. हम डीसीपी कार्यालय से आवश्यक अनुमति लेने के लिए मुंबई अपराध शाखा में हैं. हालांकि, डीसीपी मौजूद नहीं हैं और इसलिए हम फिर से अनुमति लेने के लिए आएंगे. मेकर्स ने मिर्जापुर में बहुत ही अभद्र भाषा का इस्तेमाल किया है. इससे शहर मिर्जापुर की छवि धूमिल होती है."

अधिकारी ने कहा, "FIR 17 जनवरी को कोतवाली देहात पुलिस स्टेशन में दर्ज की गई थी. एक बार अनुमति मिलने के बाद हम उन सभी से पूछताछ करेंगे जिनका नाम FIR में लिया गया है.

(Source: India Today) 

Recommended

Loading...
Share