सुप्रीम कोर्ट ने 'मिर्जापुर' के मेकर्स और OTT प्लेटफॉर्म अमेजन प्राइम वीडियो से जिले को खराब रोशनी में दिखाने की शिकायत पर मांगा जवाब

By  
on  

अमेजन प्राइम की वेब सीरीज 'मिर्जापुर' को लेकर फिर विवाद शुरू हो गया है. सामाजिक शत्रुता को बढ़ावा देने, अपमानजनक कंटेंट दिखाने और जिले को खराब रोशनी में डालने के आरोप में प्रोड्यूसर्स के खिलाफ मिर्जापुर के कोतवाली देहात पुलिस स्टेशन में FIR दर्ज की गयी है. रिपोर्ट में आगे कहा गया है कि शो ने कथित तौर पर स्क्रीन पर अवैध संबंध दिखाए है. FIR अरविंद चतुर्वेदी की शिकायत पर दर्ज की गई है जिन्होंने शो पर उनकी 'धार्मिक भावनाओं को आहत करने' का आरोप लगाया था. ऐसे में सुप्रीम कोर्ट ने नोटिस जारी कर शो के मेकर्स और OTT प्लेटफॉर्म से इस बारे में जवाब मांगा है.

वेब सीरीज में खराब रोशनी में मिर्जापुर जिले के चित्रण के बारे में शिकायत करने वाली एक याचिका पर सुप्रीम कोर्ट ने वेब सीरीज मिर्जापुर और अमेजन प्राइम वीडियो के मेकर्स और प्रोड्यूसर्स को नोटिस जारी किया है. ओटीटी प्लेटफॉर्म और सीरीज मेकर्स ने OTT प्लेटफॉर्म से इस बारे में जवाब मांगा है.

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Faye DSouza (@fayedsouza)

(यह भी पढ़ें: पंकज त्रिपाठी की 'मिर्जापुर' के मेकर्स के खिलाफ FIR दर्ज होने के बाद जांच के लिए यूपी पुलिस पहुंची मुंबई)

FIR में सीरीज के प्रोड्यूसर रितेश सिधवानी और फरहान अख्तर और भौमिक गोंडलिया का नाम भी शामिल है. इनके खिलाफ सेक्शन 295 A, धारा 504, धारा 505, धारा 34 और आईटी एक्ट 2008 की धारा 67a के तहत मामला दर्ज हुआ है. 

(Source: ANI)

Recommended

Loading...
Share