कोरोना पाबंदियों पर फूटा करण पटेल और नकुल मेहता का गुस्सा, कहा- 'नेता रैली कर सकते हैं, आम आदमी काम नहीं कर सकते'

By  
on  

हाल ही में कोरोना के मामले बढ़ने के चलते लॉकडाउन की पाबंदियों को कड़ा किया गया है. जिस पर टीवी एक्टर करण पटेल और नकुल मेहता ने नाराजगी जाहिर की है. ये एक्टर्स इन पाबंदियों से खुश नहीं हैं. उन्होंने इसे बेवकूफाना हरकत बताया है. करण और नकुल ने सोशल मीडिया पर अपनी भड़ास निकाली है. 

करण पटेल ने कहा कि इस बात का कोई तुक नहीं है कि आम आदमी काम पर ना जाए. उन्होंने कहा है कि अभिनेता, क्रिकेटर और नेता अपना काम कर सकते हैं लेकिन आम आदमी नहीं कर सकता और सबसे ज्यादा मार उसी को झेलनी है. उन्होंने अपनी इंस्टाग्राम पोस्ट पर लिखा कि, 'अभिनेता अपने प्रोजेक्ट की शूटिंग कर सकते हैं. क्रिकेटर अपने मैच खेल सकते हैं. नेता हजारों लोगों के बीच में रैली कर सकते हैं. राज्य चुनाव करा सकता है. लोगों से वोट डालने की अपील करता है, लेकिन आम आदमी काम पर नहीं जा सकता. यह बहुत ही बेवकूफाना है.'

'शनिवार और रविवार को नहीं होगी टीवी शोज की शूटिंग, महाराष्ट्र सीएम उद्धव ठाकरे संग मीटिंग में हुआ फैसला': IFTPC चेयरमैन जेडी मजीठिया

वहीं नकुल ने अपनी इंस्टा स्टोरी पर लिखा कि, 'राजनीतिक रैलियों की ज़रूरत नहीं, बॉलीवुड अवार्ड्स शो की भी जरूरत नहीं, धार्मिक सभा की जरूरत नहीं है. कुंभ मेले की भी जरूरत नहीं पर अकेले कार में ट्रेवल कर रहे हो तो मास्क पहनों, ये क्या बात है.' दरअसल बता दें कि, दिल्ली हाइकोर्ट ने कार में अकेले ट्रेवल करने पर भई मास्क को जरूरी कर दिया है. जिस पर नकुल ने अपना गुस्सा निकालते हुए ऐसे रिएक्ट किया. 

दरअसल, रविवार को महाराष्ट्र सरकार ने घोषणा की है कि राज्य में लॉकडाउन लगाया जाएगा और नियमों का कड़ाई से पालन किया जाएगा. यह सोमवार रात 8:00 बजे से 30 अप्रैल तक चलेगा. इसमें प्रोफेशनल रेस्ट्रिक्शन भी लगाए गए हैं. सभी ऑफिस वर्कर्स को घर से काम करने के लिए कह दिया गया है और वीकेंड पर टोटल लॉकडाउन और नाइट कर्फ्यू की घोषणा की है. साथ ही एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री को वीकेंड पर शूटिंग नहीं करने के लिए कहा है. हालांकि, वह 5 दिन शूट कर सकते हैं.

Recommended

Loading...
Share