चेन्नई फार्म हाउस पर राजकीय सम्मान के साथ लेजेंडरी सिंगर बाला सुब्रमण्यम को दी गयी अंतिम विदाई

By  
on  

शुक्रवार को लेजेंडरी सिंगर बाला सुब्रमण्यम ने 74 वर्ष की आयु में दुनिया को अलविदा कह दिया और शनिवार को उनका अंतिम संस्कार किया गया. सुब्रमण्यम स्वामी के पार्थिव शरीर को तिरुवल्लूर जिले के तमराइपक्कम ले जाया गया, जहां उन्हें नम आंखों से अंतिम विदाई दी गयी. 

 पूरे राजकीय सम्मान के साथ एसपी बालासुब्रमण्यम का अंतिम संस्कार किया गया. दिग्गज गायक को 24 बंदूकों की सलामी दी गयी. इस दौरान फ़िल्मी हस्ती के अलावा और भी कई बड़ी शख्सियत मौजूद थी. बालासुब्रमण्यम के बेटे एसपी चरण ने पुजारियों के मंत्रोच्चारण के बीच पिता का अंतिम संस्कार किया, जिसके बाद 24 पुलिस कर्मियों ने उन्हें बंदूक की सलामी दी और बाद में उनके पार्थिव शरीर को दफना दिया गया.

दिग्गज गायक एसपी बालासुब्रमण्यम के अंतिम दर्शन के लिए घर के बाहर उमड़ी फैंस की भीड़, परिवार ने सार्वजनिक श्रद्धांजलि की मांगी अनुमति

अंतिम विदाई से पहले पूरे तिरुवल्लुवर में सुरक्षा बढ़ा दी गई थी. जिले के एसपी अरविंदन ने कहा था, 'एस पी बालासुब्रमण्यम की अंतिम यात्रा को देखते हुए हमने 500 पुलिसकर्मी द्वारा सुरक्षा बढ़ा दी है. साथ ही ट्रैफिक पुलिस को भी सर्तक कर दिया है, ताकि लोगों को ट्रैफिक की समस्या का सामना न करना पड़े.' 

बहाल सुब्रमण्यम ने पांच दशक से भी ज्यादा वक़्त तक सिनेमा के लिए काम किया है. उन्होंने अपने करियर में 16 भाषाओं के 40,000 से ज्यादा गानों में अपनी आवाज दी. हिंदी सिनेमा में उन्होंने अपने करियर की शुरुआत 1981 में कमल हासन पर फिल्माए गए गाने 'एक दूजे के लिए' में अपनी आवाज से की थी. 

 

Recommended

Loading...
Share