Hello Charlie Review: 'गुडबाय चार्ली' कहने पर मजबूर कर देंगी आदर जैन की जबरदस्ती वाली कॉमेडी

By  
on  

फिल्म : हैलो चार्ली 
कास्ट : आदर जैन, जैकी श्रॉफ, एलनाज नौरोजी, राजपाल यादव, श्लोका पंडित 
डायरेक्टर : पंकज सारस्वत
ओटीटी : अमेजन प्राइम वीडियो
रेटिंग्स : 2 मून्स 
एनिमल्स एडवेंचर की फिल्मों का अपना अलग चार्म होता है. द लॉयन किंग से लेकर मोगली तक, हॉलीवुड ने हमें कुछ सबसे यादगार फिल्में दी हैं, लेकिन इन यादों को बर्बाद करने के लिए पंकज सारस्वत की एनिमल्स एडवेंचर और फैमिली एंटरटेंमेंट हैलो चार्ली काफी है. आदर जैन, आदर जैन, जैकी श्रॉफ, एलनाज नौरोजी, राजपाल यादव, श्लोका पंडित स्टारर ये फिल्म एक बिना दिमाग की कॉमेडी है, जो आपको गुडबाय चार्ली कहने पर मजबूर कर देगी. 

The Big Bull Review: अभिषेक बच्चन ने एक चालाक स्टॉक ब्रोकर की भूमिका के साथ लाई बाजार में उछाल


फिल्म की कहानी चिराग रस्तोगी उर्फ चार्ली (आदर जैन) के बारे में है जो इंदौर से मुंबई यूं ही बिना किसी प्लान के सफल होने के लिए आ गया है. उनके अपने मरहूम पिता का कर्ज उतारना है. जल्दी से पैसा कमाने के लिए चार्ली एक काम अपने हाथ में लेता है जिसमें उसे एक गोरिल्ला को मुंबई से दीव तक पहुंचाना है. अब इसमें चार्ली को पैसा तो मिल रहा है मगर गोरिल्ला के ड्रेस में फरार उद्योगपति मकवाना (जैकी श्रॉफ) है जो कई बैंकों को धोखा देकर देश से बाहर फरार होना चाहता है. 

वहीं चार्ली को इस बात का अंदाजा नहीं होता है कि जिसे वो गोरिल्ला समझ कर ले जा रहा है वो टोटो नहीं बल्कि स्कैमर मकवाना (जैकी श्रॉफ) है. फिल्म में एमडी मकवाना (जैकी) की गर्लफ्रेंड का किरदार मोना (एलनाज नौरोजी) निभा रही हैं. फिल्म अजीब कंडिशन तब आती है जब गोरिल्ला की ड्रेस में मकवाना के साथ ही कहानी में सर्कस के असली गोरिल्ला की एंट्री होती है. खैर, फिल्म की कॉमेडी सेंसलेस है. कॉमेडी को लेकर एक बात स्पष्ट है कि आप जबरदस्ती इसे नहीं कर सकते.  निश्चित रूप से ये एक बेकार और संवेदनहीन स्क्रिप्टिंग है. 

बात सितारों की एक्टिंग की करें तो आदर जैन को अभी काफी कुछ सीखने की जरूरत है पर उनकी परफोर्मेंस में काफी सुधार है. अच्छे लुक्स के बावजूद वह हर बार केवल रणबीर कपूर की ही याद दिलाते रहते हैं. उनकी आवाज, एक्सप्रेशन अपने कजिन रणबीर से काफी मिलते-जुलते हैं मगर वह ऐक्टिंग रणबीर जैसी नहीं कर पाते हैं. लेकिन हां वे चिराग उर्फ ​चार्ली की अपनी भूमिका के लिए पूरा न्याय करने की कोशिश करते हैं.  वहीं श्लोका को काफी कम स्क्रीन टाइम मिला है, लेकिन अपनी एक्टिंग और डांस से उन्होंने दिल जीता है. जैकी श्रॉफ हमेशा की तरह ही शानदार रहे हैं, वहीं एलनाज ने भी अच्छा काम किया है. वहीं फिल्म के सपोर्टिंग कैरेक्टर्स जैसे गिरीश कुलकर्णी और राजपाल यादव के लुक्स तो फनी रहे, लेकिन किरदार में कुछ दम नजर नहीं आया.


लेखक-निर्देशक पंकज सारस्वत एक साफ-सुथरी, फैमिली फ्रेंडली, ऑल्ड स्कूल कॉमेडी दिखाने की कोशिश करते है. लेकिन आपको देखने को मिलता है.. सेंसलेस कॉमेडी, पुरानी आउटडेटेड कहानी. ये कहानी आपको एटरटेनिंग कम परेशान ज्यादा करती है. आंद्रे मेनेजेस की सिनेमैटोग्राफी संतोषजनक है और चंदन अरोड़ा और मितेश सोनी की एडिटिंग अच्छी है. जॉन स्टीवर्ट एडुरी का संगीत थोड़ी राहत देता है. 
बस आप हैलो चार्ली इसलिए देख सकते है अगर आपको गोरिल्ला से प्यार है. 

                                        पीपिंगमून हैलो चार्ली को 2 मून्स देता है. 

Recommended

Loading...
Share